परमेश्वर प्रेम है, उद्धारा मुझे,
परमेश्वर प्रेम है, मुझ निमित्त भी ।
इसलिये गाता हूँ, परमेश्वर प्रेम है,
परमेश्वर प्रेम है, मुझ निमित्त भी ।

मैं दबा हुआ, निज पाप के भार से,
मैं दबा हुआ, उद्धार न था ।

त्राणदाता यीशु, प्रायश्चित किया,
त्राणदाता यीशु, उठाया दण्ड ।

हे प्रेम मन भावन, उद्धार का सोता,
हे प्रेम मन भावन, चैन प्राणों का ।

सराहूं तुझे, सनातन प्रेम है,
सराहूं तुझे, जब तक जीऊँ ।