क्रूस ही तेरा निशान, आगे बढ़ जवान,
पीछे न हटना कभी, यीशु है तेरी चट्टान ।

नैया मेरी मझधार में डूबी, कौन लगाएगा पार,
केवल यीशु हो सकता है, मेरी नैया की पतवार ।

तेरे ही खातिर आया जगत में, तुझको बचाने को,
तेरे ही लिए यीशु ने खोला, मुक्त्ति के द्वार को ।

सब के लिए है सुसंदेश, उसके ही प्यार का,
सब के दिलो का प्यारा मसीह है राजा है शान्ति का ।

Your Content Goes Here