गुनाह की सज़ा जहन्नम, ऐ गुनहगार तू समझ ले,
यह चीज़े सारी फ़ानी हैं, अन देखी चीज़े अबदी हैं।

यीशु राजा आयेगा,
बहुत जल्दी आयेगा,
आसमान पर ले जाने को हम को।

अब छोड़ दुनिया के ऐशों को, कि उसकी खुशी फ़ानी है,
होगी तमाम जब ज़िन्दगी, कोई कौड़ी साथ न जायेगी ।

दिन तेरे गुज़रे जाते हैं, दुनियां के ख्वाब-ए-फ़ानी में,
पेश्तर ख़ुदा के गज़ब से, तू आ क़दमों पर यीशु के ।

यीशु के खून के चश्में को, देख बहता कैलवरी से,
गुनाह सब तेरे होंगे दूर, उसमें ग़ोता लगाने से ।

मैं तो था बहुत गुनाहगार, यीशु ने मुझको किया साफ़,
क्यों नहीं आता उसके पास, ताकि तू भी हो बिलकुल पाक ।

Your Content Goes Here